Friday, 14 August 2015

कल कैसे कह पाऐंगे मेरा भारत महान!

दूध में डिटर्जेंट, चीनी में आटा,
जेब खाली पर हम बूट पहने बाटा
मैगी में लेड, सरकारी जाॅब रिश्वत से सेट
चारा, कोल और व्यापम घोटाला
बेटे ने सम्पत्ति की खातिर मां को मार डाला
आईपीएल में फिक्सिंग, दारू तक में मिक्सिंग
थाने में रेप, परीक्षा में चेपमचेप
आपे से बाहर संसद में नेता
ग़रीब जनता की कोई न ख़बर लेता
राधे मां का रायता, आसाराम की लीला
जवानी पर इतराएं मुन्नी-शीला
फेसबुक, वाॅट्स-एप, ट्विटर पर सब टशन में
भूखे का पेट पर, कोई न भरे वतन में
तहज़ीब-संस्कार की बातें हुई बेमानी
पूछें, शेयर बाज़ार में कितना चढ़ा सोना, कितनी गिरी चांदी
कहीं फटा बम तो कहीं पटरी से उतरी रेल
हमें यह चिंता ‘बिग बज़ार‘ में काहे की लगी सेल
पांच वक्त पढ़ेंगे नमाज़, मंदिर की घंटी रोज़ बजाएंगे
ग़रीब का हक, फिर भी हज़म कर जाएंगे
सार्वजनिक मंच पर हिंदी-हिंदी चिल्लाएंगे
पर सोर्स लगाकर बच्चे को इंग्लिश मीडियम से पढ़ाएंगे
पड़ोसी के जितना ऊंचा बंगला हम भी बनाएंगे,
क्या फर्क पड़ता है, चरित्र कितना नीचे गिराएंगे
बड़ी-बड़ी बातें नहीं, करें बड़े-बड़े काम
तब दें, गंाधी को श्रद्धांजलि, कलाम को करें सलाम
जो न छोड़ा हमन,े यह दोहरा चरित्र और झूठी शान
तो कल कैसे कह पाएंगे? मेरा भारत महान!
मेहरीन जाफरी

No comments:

Post a Comment